कोरोना में महिलाओं के लिए बेहद उपयोगी हो सकता है “पी कोन”

पब्लिक प्लेसेज पर टॉयलेट अक्सर गंदे ही रहते हैं. पुरुष तो इसका इस्तेमाल खड़े-खड़े कर लेते हैं, लेकिन मुश्किल महिलाओं को होती है. बेहद मजबूरी में उन्हें उसी गंदे टॉयलेट पर बैठना पड़ता है, क्योंकि उनके सामने कोई और विकल्प नहीं होता है.
ऐसे में ”पी कोन” नामक प्रोडक्ट महिलाओं के लिए बेहद उपयोगी हो सकता है. इससे न केवल हाइजीन मेंटेन रह सकती है, बल्कि कोरोना जैसे संकट से भी बचा जा सकता है. यूरिनल के लिए यह आविष्कार निश्चित रूप से एक क्रांतिकारी कदम साबित हो सकता है. इसकी और जानकारी आप इसकी वेबसाइट http://www.peecone.com से प्राप्त कर सकते हैं

इंटरनेशनल विमेन डे पर राष्ट्रपति ने महिलाओं को दिया ‘नारी शक्ति पुरस्कार’

आज विश्व भर में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जा रहा है।

इस मौके पर भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महिलाओं को नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया है। इन महिलाओं में भारतीय वायुसेना की पहली महिला फाइटर पायलट मोहना जीतवाल, अवनी चतुर्वेदी और भावना कंठ जैसी महिलाएं शामिल हैं। इसी प्रकार एथलेटिक्स में 103 वर्षीय मान कौर को नारी शक्ति पुरस्कार मिला है, तो बिहार की बीना देवी को मशरूम की खेती को लोकप्रिय बनाने के लिए यह पुरस्कार दिया गया है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विभिन्न क्षेत्रों में झंडे गाड़ने वाली महिलाओं को अपने सोशल मीडिया अकाउंट सौंपकर, अपने क्रिएटिव आईडिया से खासी चर्चा बटोरी है।

T-20 Women World Cup 2020: भारत को हराकर ऑस्ट्रेलिया बना ‘चैंपियन’

भारतीय महिला टीम पहली बार फाइनल में पहुंची थी, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर भारत को 85 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

यह पांचवां मौका है, जब ऑस्ट्रेलियन महिला टीम ने आईसीसी T20 विमेन वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया है। इससे पहले 2010, 2012, 2014 और 2018 में भी उसने यह वर्ल्ड कप अपने नाम किया था। ऑस्ट्रेलिया की मूनि जिन्होंने नाबाद 78 रन बनाया और हीली जिन्होंने 75 रन बनाया, इनका योगदान आस्ट्रेलिया की जीत में सबसे ज्यादा रहा, क्योंकि इनके प्रयासों से मात्र 4 विकेट पर 184 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा हो चुका था।

बड़े लक्ष्य के दबाव में भारतीय टीम बिखर गई। मात्र 18 रन की शुरुआत पर ही उसके तीन बड़े विकेट गिर गए। यहां तक कि कप्तान हरमनप्रीत कौर भी कुछ खास नहीं कर पाईं और फिर एक के बाद एक विकेट गिरते रहे। जाहिर तौर पर महिला वर्ल्ड कप जीतने का भारतीय टीम का सपना फिलहाल चकनाचूर हो गया है।