फ्लोर टेस्ट ना कराए जाने को लेकर मध्य प्रदेश बीजेपी पहुंची सुप्रीम कोर्ट

मध्यप्रदेश में जारी सियासी संग्राम देखते हुए 16 मार्च को होने वाले फ्लोर टेस्ट को निरस्त कर बजट सत्र की कार्यवाही तो 26 मार्च के बाद शुरू करने की बात कही गई है। वहीं इस फैसले का मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी इसका कड़ा विरोध कर रही है और इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट गई है।

इस मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा मंगलवार को सुनवाई की जाएगी। बता दें कि बीजेपी के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने 106 विधायकों को राज्यपाल के सामने परेड कराई। इसके बाद राज्यपाल लालजी टंडन ने कहा है कि जो भी कार्यवाही होगी वह संविधान के नियमों के अनुसार होगी और किसी भी विधायक के अधिकार का हनन नहीं किया जाएगा।

वही कहा जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी भी सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर सकती है 16 विधायकों के गायब होने को लेकर ।

नाइट क्लब, जिम को बंद करने के साथ ही दिल्ली में 50 लोगों ले एक साथ इकठ्ठा होने पर लगी रोक

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए दिल्ली के सभी स्पा, नाइट क्लब, स्विमिंग पूल और जिम को 31 मार्च के लिए बंद करने के आदेश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों से अपील की है कि वह दिल्ली में कहीं भी 50 से ज्यादा लोग एक साथ एकत्रित ना हो।

हालाँकि शादी -व्याह को इस नियम से अलग रखा गया है। सीएम केजरीवाल ने अपील की है कि बहुत जरूरी ना हो तो शादी के कार्यक्रम को 31 मार्च के बाद संपन्न किए जाएं। हालांकि दिल्ली में अभी मार्केट और मॉल्स को बंद नहीं किए गए हैं क्योंकि जरुरी चीजों के लिए इनका बंद करना उचित नहीं है।

26 मार्च तक के लिए कमलनाथ की कुर्सी बची, मध्य प्रदेश विधानसभा बजट सत्र हुआ स्थगित

मध्य प्रदेश की राजनीति में चल रही गहमागहमी के बीच नया मोड़ आ गया है जिसकी उम्मीद पहले से जताई जा रही थी। जी हां मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने बजट सत्र के पहले दिन अपना अभिभाषण 1 मिनट में खत्म करते हुए मध्यप्रदेश बजट सत्र की कार्यवाही को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया है।

वहीं अपने अभिभाषण के दौरान महामहिम ने यह भी कहा कि मध्यप्रदेश के जो भी सांसद और विधायक हैं वह अपने कर्तव्य और संविधान की रक्षा करें। बता दें कि आज शक्ति परीक्षण और फ्लोर टेस्ट के लिए बीजेपी और कांग्रेस के तरफ से सभी विधायकों को सदन में उपस्थित रहने की का आदेश जारी किया गया था।

वहीं सिंधिया खेमे के विधायकों को कहाँ रखा गया किसी को नहीं पता। कुल मिलाकर 26 मार्च तक के लिए मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार सुरक्षित है।

कांग्रेस के 74 विधायक लौटे भोपाल

मध्यप्रदेश में होने वाले फ्लोर टेस्ट के लिए कांग्रेस ने अपने 74 विधायकों को वापस भोपाल बुला लिया है। बता दें कि इन विधायकों को जयपुर के एक होटल में ठहराया गया था।

फ्लोर टेस्ट को ध्यान में रखते हुए बीजेपी ने भी नोटिस जारी करते हुए कहा है कि सभी विधायक कल फ्लोर टेस्ट के दौरान मौजूद रहे और अनिवार्य रूप से बीजेपी के पक्ष में मतदान करें। बुधवार को ही कांग्रेस के 90 विधायक भोपाल से जयपुर पहुंच गए थे और इन्हे जयपुर में लग्जरी होटल में ठहराया गया था। इन विधायकों के आगमन को ध्यान में रखते हुए भोपाल एयरपोर्ट पर बेहद कड़े सुरक्षा के इंतजाम किए गए हैं।

हवाई अड्डे के आसपास धारा 144 लगाकर भीड़ इकट्ठा ना होने के आदेश जारी कर दी गई है।

अमेरिकी प्रतिबंधों के खिलाफ ईरान ने मांगी भारत से मदद

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने एक पात्र लिख कर विश्व के सभी नेताओं को यह बताने का प्रयास किया गया है कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में किस प्रकार अमेरिका द्वारा लगाए गए प्रतिबंध बाधा उत्पन्न कर रहे हैं।

अपने इस भाउक पत्र में राष्ट्रपति हसन रूहानी ने वैश्विक नेताओं से जोर देते हुए कहा है कि कोरोना वायरस की लड़ाई के लिए एक ठोस रणनीति की जरूरत है क्योंकि यह वायरस ना धर्म देखता है ना जात और ना ही राजनीति। न ही यह वायरस किसी देश की सीमा को समझता है। इसलिए सभी एक साथ मिलकर इस लड़ाई में शामिल हों।

वहीं अमेरिका द्वारा ईरान पर लगाए गए प्रतिबंध को बेहद अनैतिक बताते हुए कहा है कि संकट की इस घड़ी में किसी राष्ट्र के ऊपर प्रतिबंध लगाना बेहद अमानवीय कार्य है।

कोरोना से बचाव में चीन और अमेरिका से आगे निकला भारत

135 करोड़ की जनसंख्या वाले देश भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 100 के आंकड़े को पार कर गया है। वहीं कोरोना वायरस की वजह से 2 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। हालाँकि भारतने कोरोना वायरस पर नियंत्रण के मामले में चीन और अमेरिका जैसे देशों को पीछे छोड़ दिया है।

जहां चीन में 80 हजार के आसपास लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं वहीं 32 हजार लोग इस वायरस से मारे गए हैं। अगर अमेरिका की बात करें तो अमेरिका में 3 हजार से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हैं तो वहीं 57 के आसपास लोग कोरोना की वजह से अपनी जान गवा चुके हैं।

बता दें कि कोरोना के मामले में भारत काफी पहले 22 जनवरी को अपने एयरपोर्ट पर जाँच शुरू कर दी थी जबकि अमेरिका 25 जनवरी तक अपने यहाँ जाँच नहीं शुरू कर पाया था।

तीसरे स्टेज से पहले निपटना होगा भारत को कोरोना वायरस से नहीं तो होगी बड़ी तबाही

भारत के बड़े डॉक्टरों में शामिल डॉ. बलराम भार्गव ने कोरोना वायरस के बारे में चौकाने वाले खुलासे करते हुए कहा है कि भारत में फैले कोरोना वायरस का यह सेकंड स्टेज है, वहीं थर्ड स्टेज के आने से पहले भारत सरकार को कोरोना वायरस पर पूर्ण रूप से नियंत्रण पाना होगा।

डॉ. बलराम भार्गव का कहना है कि कोरोना सेकेण्ड स्टेज में उन्हीं लोगों में फैल रहा है जो संक्रमित देश से लौटे हैं। वहीं तीसरे स्टेज में यह संक्रमित लोगों से भारत के लोकल लोगों में फैलने लगेगा।

इस स्थिति से बचने के लिए भारत के के पास 30 दिनों का समय है, इस दौरान अगर कोरोना वायरस पर नियंत्रण नहीं पाया गया तो यह महामारी का रूप ले लेगा और इसके चपेट में लाखों लोग आ जाएंगे।

दिल्ली हिंसा में शामिल महिलाओं की पहचान के बाद धरपकड़ जारी

दिल्ली में हुई हिंसा में शामिल महिलाओं के खिलाफ क्राइम ब्रांच ने अहम सबूत इकट्ठा किए हैं। इस हिंसा में शामिल 6 महिलाओं की पहचान भी कर ली गई है और इस संदर्भ में उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की जाएगी।

मिले सबूतों के आधार पर चाँद बाग इलाके में हुई हिंसा के दौरान 70 से 80 महिलाएं घटना में शामिल थी और पुलिस के ऊपर पथराव करती हुई नजर आयीं। वहीं ज्यादातर महिलाओं ने बुर्का पहन रखा था जिसके कारण उन्हें पहचानने में दिक्कत आयी।

हालांकि सर्विलांस और वीडियो फुटेज के आधार पर 6 महिलाओं की पहचान कर ली गई है।

दिल्ली विधानसभा में पास हुआ एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ प्रस्ताव

गुरुवार को राज्यसभा में अमित शाह द्वारा एनपीआर के सन्दर्भ में बयान देने के बाद आज दिल्ली विधानसभा में एनपीआर के खिलाफ प्रस्ताव पास किया गया है। इस बारे में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि जैसा कि गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि एनपीआर के लिए कोई डॉक्युमेंट्स नहीं मांगा जाएगा लेकिन उन्होंने एनआरसी के बारे में कोई बात नहीं कही है।

वहीं एनपीआर आएगा तो उसके पीछे एनआरसी भी आएगी ऐसे में एनपीआर नहीं होना चाहिए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अमित शाह के क्रोनोलॉजी वाले बयान को ट्वीट करते हुए कहा कि सीएए आएगा उसके बाद एनपीआर आएगा फिर एनआरसी आएगी, यह तीनों नियम एक दूसरे से जुड़े हुए हैं।

ऐसे में अगर एनपीआर लागू कर दिया गया तो बाद में पछताने के आलावा कुछ भी हाथ नहीं लगेगा।

कोरोना वायरस के चलते उत्तर प्रदेश में 22 मार्च तक बंद रहेंगे सभी स्कूल और कॉलेज

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के 12 मामले सामने आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह फैसला लिया है कि प्रदेश के सभी स्कूल व कालेज 22 मार्च तक के लिए बंद कर दिए जाएंगे। हालांकि सरकार ने कहा है कि जिन विद्यालय में परीक्षाएं चल रही हैं वह स्थगित नहीं होंगी और परीक्षा वाले दिन परीक्षा दी जा सकती है।

इतना ही नहीं है उत्तर प्रदेश में कॉलेज मेडिकल कॉलेज को भी 22 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं अगर किसी स्कूल में परीक्षा अगर शुरू नहीं हुई है तो इसे 22 मार्च के बाद कराए जाने की बात कही गई है। हालांकि उत्तर प्रदेश में कोरोना को अभी महामारी घोषित नहीं किया गया है लेकिन कुछ ऐसे नियम हैं जिन्हें लागू किया जाएगा।