आज से शुरू होगा कोरोना के वैक्सीन का परीक्षण

अमेरिका की सरकार ने यह घोषणा किया है कि अमेरिकी वैज्ञानिकों द्वारा कोरोना वायरस के वैक्सीन को तैयार कर लिया गया है। वहीं इस वैक्सीन का परीक्षण 16 मार्च से मानव शरीर पर किया जाएगा। अमेरिका सरकार का कहना है कि अगर यह परीक्षण सफल होता है तो इस वैक्सीन को पूरी दुनिया में दिया जाएगा।

बता दें कि इस परीक्षण में शामिल होने वाले सभी नागरिकों को अमेरिका ‘द नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ’ के द्वारा फंडिंग किया जाएगा। वहीं इस ट्रायल के लिए 45 युवा और स्वास्थ्य लोगों को चुना गया है।

कोरोना वायरस से बचने के लिए खानपान में शामिल करें इन चीजों को

भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए खानपान की चीजों में परिवर्तन लाने की बात कही है। वैज्ञानिकों का कहना है कि खाना बनाते समय सरसों के तेल या रिफाइंड की जगह पर आपको नारियल तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। वहीं विटामिन सी से भरपूर फल और सब्जियों को अपने खाने में शामिल करना चाहिए।

इसके साथ ही वैज्ञानिकों का कहना है कि बेरीज में क्रैनबेरिज, ब्लूबेरिज, अंगूर और डार्क चॉकलेट को भी अपने खाने में जगह दे क्योंकि इससे फंगल इंफेक्शन के खतरे कम हो जाते हैं। वहीं खाने में स्टार सौंफ और अदरक को भी शामिल करने की बात कही जा रही है क्योंकि इनमें एंटीवायरल तत्व होते हैं।

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए डॉक्टर तुलसी और लहसुन को भी खाने में शामिल करने की बात कह रहे हैं। इसके साथ ही डॉक्टरों द्वारा कच्ची हरी सब्जियों, मीट मछली तथा अंडो से भी दूरी बनाने की बात कही जा रही है।

कोरोना से बचाव में चीन और अमेरिका से आगे निकला भारत

135 करोड़ की जनसंख्या वाले देश भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 100 के आंकड़े को पार कर गया है। वहीं कोरोना वायरस की वजह से 2 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। हालाँकि भारतने कोरोना वायरस पर नियंत्रण के मामले में चीन और अमेरिका जैसे देशों को पीछे छोड़ दिया है।

जहां चीन में 80 हजार के आसपास लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं वहीं 32 हजार लोग इस वायरस से मारे गए हैं। अगर अमेरिका की बात करें तो अमेरिका में 3 हजार से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हैं तो वहीं 57 के आसपास लोग कोरोना की वजह से अपनी जान गवा चुके हैं।

बता दें कि कोरोना के मामले में भारत काफी पहले 22 जनवरी को अपने एयरपोर्ट पर जाँच शुरू कर दी थी जबकि अमेरिका 25 जनवरी तक अपने यहाँ जाँच नहीं शुरू कर पाया था।

तीसरे स्टेज से पहले निपटना होगा भारत को कोरोना वायरस से नहीं तो होगी बड़ी तबाही

भारत के बड़े डॉक्टरों में शामिल डॉ. बलराम भार्गव ने कोरोना वायरस के बारे में चौकाने वाले खुलासे करते हुए कहा है कि भारत में फैले कोरोना वायरस का यह सेकंड स्टेज है, वहीं थर्ड स्टेज के आने से पहले भारत सरकार को कोरोना वायरस पर पूर्ण रूप से नियंत्रण पाना होगा।

डॉ. बलराम भार्गव का कहना है कि कोरोना सेकेण्ड स्टेज में उन्हीं लोगों में फैल रहा है जो संक्रमित देश से लौटे हैं। वहीं तीसरे स्टेज में यह संक्रमित लोगों से भारत के लोकल लोगों में फैलने लगेगा।

इस स्थिति से बचने के लिए भारत के के पास 30 दिनों का समय है, इस दौरान अगर कोरोना वायरस पर नियंत्रण नहीं पाया गया तो यह महामारी का रूप ले लेगा और इसके चपेट में लाखों लोग आ जाएंगे।

बर्ड फ्लू की आशंका के चलते केरल में मुर्गा -मुर्गियों को मारने के आदेश

एक तरफ जहां देश कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहा है, वहीं केरल राज्य में बर्ड फ्लू की आशंका जताई जा रही है। इस सूचना के बाद केरल सरकार ने सभी पोल्ट्री फॉर्म में पल रहे मुर्गे और मुर्गियों को मारने के आदेश दे दिए हैं।

बता दें कि केरल के मलप्पुरम जिले में पलथींगल में बर्ड फ्लू के मामले सामने आए हैं। वहीं इस एरिया के 1 किलोमीटर की रेंज में मुर्गियों को मारने के आदेश जारी किए गए हैं।

इतना ही नहीं इस एरिया के 10 किलोमीटर के क्षेत्र में चिकन पालतू जानवर और अंडे तक बेचने पर प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। बता दें कि केरल में अब तक 19 कोरोना वायरस के मरीज पाए गए हैं।

हॉस्पिटल से फरार हुए कोरोना के पांच संदिग्ध मरीज

भारत में कोरोना वायरस से अब तक 2 लोगों की मौत के बाद भारत में कोरोना वायरस को लेकर चिंता गहरी होती जा रही है। बता दें कि इस संक्रमण में के चपेट में भारत में 82 लोग आ चुके हैं।

वहीं नागपुर के इंदिरा गांधी गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल से एक बेहद चौकाने वाली खबर आ रही है। यहाँ कोरोना वायरस से संक्रमित पांच संदिग्ध मरीज हॉस्पिटल छोड़ भाग गए हैं। वहीं पुलिस ने इस खबर के बाद पूरे नागपुर शहर को हाई अलर्ट में डाल दिया है और नाकेबंदी कर इन 5 मरीजों को ढूंढा जा रहा है।

बता दें कि दुनिया भर में कोरोना वायरस से अब तक डेढ़ लाख के आसपास लोग संक्रमित हो चुके हैं और 5 हजार से अधिक लोग संक्रमण के चलते मारे जा चुके हैं।

नोएडा में मिला एक और कोरोना वायरस पीड़ित, कंपनी के 700 कर्मचारी निगरानी में

नोएडा के एक प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले के कर्मचारी के अंदर कोरोना के पॉजिटिव लक्षण पाए गए हैं। वहीं एहतियात के तौर पर इस कंपनी में काम करने वाले सभी 700 कर्मचारियों को मेडिकल निगरानी में रखा गया है।

नोएडा के सीएमओ ने जानकारी देते हुए यह बात स्पष्ट की है कि यह व्यक्ति कुछ दिनों पहले ही फ्रांस और चीन से वापस लौटा था। वही इस केस के सामने आने के बाद भारत में अब कोरोना वायरस पीड़ितों की संख्या 76 हो गई है। वहीं उत्तर प्रदेश में 12 वायरस से पीड़ित लोग पाए गए हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज अधिकारियों के साथ मीटिंग करने वाले हैं जिसमे कोरोना से लडन की तैयारियों की जांच की जाएगी और स्कूलों को बंद करने का फैसला भी लिया जा सकता है।

भारत में कोरोना वायरस के इलाज के लिए एचआईवी की दवा का इस्तेमाल

भारत के मेडिकल साइंस एक्सपर्ट का दावा है कि कोरोना वायरस पर HIV में शामिल की जाने वाली दवाई लोपिनावीर और रिटोनावीर के इस्तेमाल से बेहतर परिणाम देखने को मिल रहे हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दवा कंपनियों के साथ बैठक कर यह आदेश पारित किए गए हैं कि एचआईवी दवाइयों का स्टाक बढ़ाया जाए और इनका उत्पादन भी बढ़ाया जाए। बता दें कि भारत इन दोनों दवाइयों का निर्यात अफ्रीका के देशों में करता है। हालांकि अभी सरकार के द्वारा इन दोनों दवाइयों के निर्यात पर रोक नहीं लगाया गया है।

इस दवाई का परीक्षण इटली से भारत आए दंपति के ऊपर उनकी परमिशन से किया गया था और 14 दिन बाद भी यह दोनों दंपति लगभग स्वस्थ पाए गए हैं।

क्या होता है आइसोलेशन सेंटर में?

कोरोना वायरस को लेकर एक शब्द बेहद आसानी से सुनने को मिल रहा है वह आइसोलेशन सेंटर! बहुत सारे लोग इस शब्द को लेकर उलझन में हैं। वहीं एक कोरोना वायरस सर्वाइवर ने आइसोलेशन वार्ड को लेकर लोगों की भ्रम को दूर करने का प्रयास किया है।

केरल की यह सर्वाइवर आईसोलेशन सेंटर में रहने के दौरान ठीक हो गई हैं और उन्होंने बताया है कि सेंटर को लेकर किसी भी तरीके की घबराहट मन में पालने की जरूरत नहीं है। क्योंकि वहां पर कोई बंदिश नहीं होती है और आप आसानी से फिल्म देख सकते हैं और अपने फोन इस्तेमाल कर सकते हैं।

मानसिक परशानी न हो इसलिए वहां रोजाना साइकोलॉजिस्ट आते हैं और सर्वाइवर के साथ काउंसलिंग कर उनकी परेशानी को दूर करने का प्रयास करते हैं। देशभर में कोरोना वायरस के 73 मामले सामने आ चुके हैं जिसमें 17 अकेले केरल राज्य से हैं।